Sun. Jul 14th, 2024

चतरा में स्थानीय उम्मीदवार देना बीजेपी की चुनावी रणनीति।।

चतरा। चतरा संसदीय क्षेत्र में चुनाव 5 वें चरण में होगा। मतदान 20 मई किया जायेगा। 26 अप्रैल को अधिसूचना जारी होगी। मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी ,निर्दलीय प्रत्याशी 3 मई तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं।
बीजेपी ने चतरा लोक सभा क्षेत्र से प्रत्याशी का नाम घोषित कर बढ़त बना ली है। स्थानीय उम्मीदवार काली चरण सिंह को प्रत्याशी बनाकर क्षेत्र की एक पुरानी मांग भी पूरी कर दी गई है। विपक्षी दल अभी भी गठबंधन और प्रत्याशी चयन को लेकर असमंजस में पड़े हैं।
होली के बाद एक बार भी से चुनावी सरगर्मी बढ़ने वाली है। अगले दो से तीन दिन बेहद अहम होंगे। विपक्षी गठबंधन भी इस सीट पर किस प्रत्याशी के नाम पर अपनी मुहर लगता है यह स्पष्ट हो जाएगा ।
इधर स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव को लेकर जिला प्रशासन चतरा भी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है।
चतरा संसदीय सीट के अंतर्गत विधानसभा की 5 सीटें है जो 3जिलों में फैली है। लातेहार जिले की लातेहार और मनिका और पलामू जिले का पांकी विधानसभा क्षेत्र भी चतरा संसदीय क्षेत्र में आते है। चतरा जिले की चतरा और सिमरिया मिलाकर पांच विधानसभा सीटें इस लोकसभा में है।

चतरा लोक सभा सीट के लिए 26 अप्रैल को अधिसूचना जारी की जायेगी। लोकसभा चुनाव में शामिल होने वाले प्रत्याशी 3 मई तक अपना नामांकन दाखिल कर सकते है । 4 मई को स्क्रूटनी का कार्य होगा जबकि 6 मई तक नाम वापसी का काम किया जा सकता है।
चतरा के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त रमेश घोलप ने चुनाव की तैयारियों को लेकर बताया कि चतरा लोकसभा क्षेत्र के लिए 1393 स्थानों पर 1899 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं । चतरा जिले के दोनों विधान सभा क्षेत्रों चतरा और सिमरिया को मिलाकर 894 बूथ बनाए गए हैं । चतरा विधानसभा क्षेत्र में बूथों की संख्या 475 है जबकि सिमरिया में मतदान केंद्रों की संख्या 419 है।

चतरा संसदीय क्षेत्र के 16 लाख 67 हजार 491 मतदाता इस लोक सभा चुनाव में अपने अधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें चतरा जिले के मतदाताओं की कुल संख्या 7 लाख 88 हजार 929 है।
वर्ष 2019 के मुकाबले इस बार जिले में 1लाख 12 हजार 149 मतदाता की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।
इन मतदाताओं में 4 लाख 50 हजार 44 पुरुष मतदाता हैं वहीं 3 लाख 83 हजार 885 महिला मतदाता हैं।

जिले के युवा मतदाताओं की संख्या की बात करें तो 18 से 19 वर्ष के मतदाताओं की संख्या 33 हजार 690 है। 2019 के लोक सभा चुनाव के समय जिले के युवा मतदाताओं की संख्या 20 हजार 948 थी। यानी इस बार 30 हजार 742 वोटर्स ज्यादा हैं।
दिव्यांग मतदाताओं की संख्या की बात करें तो जिले में 12 हजार 479 दिव्यांग मतदाता हैं। 2019 में यह संख्या 1154 थी। यानी इस बार 11 हजार 325 दिव्यांग मतदाता चिन्हित किए गए हैं।

27 अक्टूबर 2023 से चलाए गए मतदाता सूची का विशेष सारांश संशोधन SSR के तहत जिले में 41 हजार 407 नए मतदाता जोड़े गए हैं।
वहीं 1हजार 206 लोगों का नाम विलोपित भी किया गया है।
उपायुक्त रमेश घोलप के नेतृत्व में जिले में 19 कोषांगों का गठन किया गया है। जिले को 33 जोन में बांटा गया है। 33 जोनल मजिस्ट्रेट 115 सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा 12 उड़न दस्ते चुनाव के दौरान आचार संहिता,निर्वाचन आयोग और आर बी एक्ट के अनुपालन के साथ विधि का अनुपालन कराने का कार्य करेंगे।

Related Post

error: Content is protected !!