Sun. Jul 14th, 2024

एक दूल्हे के लिए दो दुल्हन तैयार , कैसे होगी शादी? मामला फिल्मी है।

By Rashtra Samarpan Mar 3, 2020

–रितेश कश्यप

किसी और का हूं फिलहाल की तेरा हो जाऊं? हाल ही में रिलीज हुआ यह गाना। इस कहानी से मिलता-जुलता दिखाई देने वाला है। मामला फिल्मी है इसलिए फिल्मों से ही शुरू किया जाए तो सही रहेगा। फिल्मों में आपने कई बार सुना होगा कि प्यार अंधा होता है और यह रोग अगर एक बार लग जाए तो उस व्यक्ति को कुछ दिखाई या सुनाई नहीं देता है। अगर दिल की बात की जाए तो एक बार किसी से प्यार हो गया तो इसकी कोई गारंटी नहीं कि दूसरी बार नहीं होगी।

लातेहार के चंदवा में ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया।  युवक की शादी के कार्ड छपने के बाद जब शादी के मंडप पर दूल्हा पहुंचा तो उसकी पहली प्रेमिका भी शादी के मंडप पर पहुंच गई और अपना अधिकार उस युवक पर जताने लगी। ऐसा करते देख जिससे उस युवक की शादी होने वाली थी उसने भी अपने कदम आगे बढ़ाए और उस युवक से शादी के लिए अपना अधिकार जताया।  मामला बिगड़ता देख युवतियों ने पुलिस की शरण में जाकर अपनी बात रखने की बात कही तो दूल्हा डर गया और दोनों युवतियों से शादी करने की बात कही।

क्या है पूरा मामला?

खूंटी की रहने वाली सुचित्रा की पढ़ाई के दौरान 2014 में सदावर नगर के रहने वाले संतोष से प्रेम हो गया। वर्ष 2018 में किसी बात को लेकर इन दोनों में संबंध विच्छेद हो गया। अब युवक की उम्र शादी की हो चुकी थी। इसी बीच लड़के की मित्रता लोहरदगा की निवासी प्यारी नाम की युवती से हो गई। संतोष और प्यारी के इस प्रेम संबंध को दोनों के घरवालों ने स्वीकार कर लिया और शादी के लिए राजी हो गए। शादी का कार्ड छप गया और शादी की सारी रस्में शुरू हो गई। इस बात की खबर जब पहली प्रेमिका सुचित्रा के पास पहुंची तो उसने चंदवा पहुंचकर शादी में रोक लगा दी और कहा कि संतोष से अगर शादी होगी तो सुचित्रा की ही होगी क्योंकि वही उसकी पहली प्रेमिका है।
मामला अभी भी विवादित बना हुआ है। इस मामले को लेकर पुलिस निरीक्षक मदन कुमार शर्मा से पूछने पर उन्होंने बताया कि मामले की तफ्तीश की जा रही है। सभी युवक युवती बालिग है। अतः किसी भी पक्ष के द्वारा अगर लिखित शिकायत दर्ज कराई जाती है तो न्याय संगत कार्रवाई अवश्य की जाएगी।


पुलिस भी किसे करेगी दोषी करार ? 

अब मामला जब प्यार मोहब्बत का हो तो इस मामले में पुलिस कर भी क्या सकती है? यह भी सोचने वाली बात है। इस मामले में दोषी कौन है और कौन है निर्दोष इस बात का पता लगाना भी काफी मुश्किल साबित होने वाला है। एक तरफ 2018 में संतोष कि सुचित्रा से दोस्ती टूट चुकी थी उसके बाद संतोष का प्यारी के साथ दोस्ती होना यह किसी अपराध के दर्जे में नहीं आता।

खैर देखते हैं आगे क्या होता है?

साभार: दैनिक जागरण।

 | Website

राष्ट्र समर्पण एक राष्ट्र हित में समर्पित पत्रकार समूह के द्वारा तैयार किया गया ऑनलाइन न्यूज़ एवं व्यूज पोर्टल है । हमारा प्रयास अपने पाठकों तक हर प्रकार की ख़बरें निष्पक्ष रुप से पहुँचाना है और यह हमारा दायित्व एवं कर्तव्य भी है ।

By Rashtra Samarpan

राष्ट्र समर्पण एक राष्ट्र हित में समर्पित पत्रकार समूह के द्वारा तैयार किया गया ऑनलाइन न्यूज़ एवं व्यूज पोर्टल है । हमारा प्रयास अपने पाठकों तक हर प्रकार की ख़बरें निष्पक्ष रुप से पहुँचाना है और यह हमारा दायित्व एवं कर्तव्य भी है ।

Related Post

error: Content is protected !!